डिप्लोमा

10 +2 के बाद उच्च शिक्षा को ध्यान में रखते हुए रोजगार परक कोर्स करना कई बार आवश्यक हो जाता है। यह न केवल आर्थिक रूप से सहयोगी होता है बल्कि पेशेवर दृष्टि से भी बेहद कारगर होता है। 

इस प्रोग्राम के माध्यम से इंटरनेट के प्रयोग से सम्बंधित महत्वपूर्ण नियमो के अतिरिक्त कैंडिडेट को साइबर क्राइम के रोक थाम से सम्बंधित पेशेवर योग्यता दी जाती है। 

विभिन्न परियोजनाओं में प्रयुक्त किये जाने वाले कर्मियों के सन्दर्भ में आवश्यक मैनेजमेंट एवं  शिकायतों का निवारण आदि विषयों के लिए इंडस्ट्रीज में, लेबर लॉ से संबंधित पेशेवर की नियुक्ति को स्वीकारा गया ।

 सेविंग एकाउंट्स, सर्टिफिकेट ऑफ़ डिपॉज़िट, ओवरड्राफ्ट, डिस्कॉउंटिंग ऑफ़ बिल्स, एडवांस  एवं चेकिंग एकाउंट्स आदि के माध्यम से बैंक, लोन इत्यादि की सुविधा द्वारा व्यापार में निवेश एवं विस्तार अपने ग्राहकों तक पहुँचता है।

इस कोर्स में कैंडिडेट्स मौलिक रूप से मैनेजमेंट एकाउंटिंग एंड एप्लाइड स्टेटिस्टिक्स ह्यूमन रिसोर्सेस मैनेजमेंट, प्रिंसिपल ऑफ़ मैनेजमेंट, फाइनेंसियल मैनेजमेंट,मार्केटिंग मैनेजमेंट, मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम, ई बिज़नेस, प्रोडक्शन एंड ऑपरेशनल मैनेजमेंट एवं प्रोजेक्ट रिपोर्ट आदि का अध्ययन करतें हैं।

डिप्लोमा इन टैक्सेशन लॉ (DLT) कोर्स के माध्यम से विद्यार्थी  टैक्सेशन सम्बंधित अनेकों नियम एवं कायदों से परिचित होता है, जिसका उपयोग करते हुए वह कई प्रकार के टैक्स योजनाओ, टैक्स रिटर्न्स एवं टैक्सेशन सम्बंधित सलाह देने में सक्षम होता है।

यह कोर्स एकाउंटिंग एवं फाइनेंस से सम्बंधित विषयों के मौलिकता पर आधारित है, जिसके माध्यम से व्यक्ति फाइनेंसियल एनालिसिस एवं एकाउंटिंग स्टैंडर्ड्स के विभिन्न प्रक्रियाओ से सम्बंधित टेक्निकल स्किल को  विकसित करता है।

इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट को अन्य नामों द्वारा भी जाना जाता है जैसे मनी मैनेजमेंट,पोर्टफोलियो मैनेजमेंट, वेल्थ मैनेजमेंट आदि। पेशेवर इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट का लक्ष्य अपने क्लाइंट(ग्राहक) के वित्तीय अपेक्षाओं को पूरा करना होता है।

 इस कोर्स की संरचना में  विद्यार्थियों में बातचीत के स्किल्स विकसित करने के साथ विभिन्न प्रकार के बीमाकृत राशि से सम्बंधित बुनियादी सिद्धांतो के अध्याय शामिल हैं, जो की कैंडिडेट को बीमा के क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर पेशेवर की  क्षमता प्रदान करते हैं।

क्यों डिप्लोमा कोर्सेज?

तकनीकी योग्यता के  विकास में कार्य प्रणाली के अनुभव का महत्वपूर्ण योगदान होता है। अनुभव एवं शिक्षा का एक साथ विकसित होना करियर के लिहाज से सर्वोत्तम होता है।